Two line Shayari in Hindi

two line Shayari

तुम फरेबी हो वादा करके तोड़ देते हो ,
कसमे निभाने का दावा करके छोर देते हो ।।

Tum farebi ho vada karke tor dete ho,
Kasme nibhane ka dava karke chhor dete ho.

तुम फरेबी हो वादा करके तोड़ देते हो ,
two line shayari

काश मेरे जिंदगी में भी कोई और होता ,
तुझे भी मेरे आने का इंतेज़ार होता।।

Kash meri zindgi me bhi koi aaur hota,
Tujhe bhi mere aane ka intezaar hota.

two line shayari in hindi

मेरी जलन, ईर्ष्या , सब प्यार ही तो है,
हाथो से दामन छूट न जाये इसका उपचार ही तो है।।

Meri Jalan, irshya , sab Pyar hi toh hai,
Hatho se daman chhut na Jaye ishka upchhar hi to hai.

खयाल कही से आया सोच क्यो न इसे हकीकत में ढूंढा जाए ,
और जब मेरी जान है खूबसूरत तो क्यो न तारीफ में कसीधे घढे जाए।

Khayal kahi se aaya soch kyu na ishe hakikat me dhundha jaye,
Aaur jab meri jaan hai khubsurat to kyu na tarif me kashidhe jaaye.

two line shayari in hindi

पहले तो मैंने इंतेज़ार की अपने बारी की,
फिर तूझेसे मिलने की मैंने तयारी की,
आखिरकार दिन आ ही गया तुम्हारे बुलावे का,
तब मुझे लगा मैंने जिंदगी बेचकर मौत से यारी की।।

Pahle toh maine intezaar ki apni baari ki,
Phir tujhse milne ki maine taiyari ki,
Aakhirkar din aa hi gaya tumhare bulave ka,
Tab mujhe laga maine zindagi bechkar maut se yaari ki.

आज तेरे लिए मैंने एक शेर लिखा है,
पर स्याही का रंग बदल दिया ।
अब कहाँ बच कर जाओगी मेरी नज़रो से, तुम्हारे लिए मैंने अपना घर बदल दिया।।

Aaj tere liye maine ek sher likha hai,
Par shyahi ka rang badal diya,
Ab kaha bach kar jaogi meri nazaro se ,
Tumhare liye maine apna ghar badal diya.

two line best shayari in hindi

तू जबाब सुनना चाहती थी, खुदा ने तुम्हें लाजबाब बनाया हैं।
तुझे नशा और मुझे नशेबाज बनाया है।।

Tu jabaab sunna chahati thi,
Khuda ne tumhe lajabab banaya hai,
Tujhe nasha aaur mujhe nashebaaj banaya hai.

जान अगर तुममे जान है तो उसकी शहनाई लौटा दो ,
मुझे मेरे जीवन की तुम पर लुटाई गयी कमाई लौटा दो।।

Jaan agar tumme jaan hai to uski shahnai lauta do,
Mujhe mere jivan ki tum par lutayi gayi kamai lauta do.

खूबसूरत तो हो लेकिन मुझे अकेला और खुद को कारवाँ समझती हो।
पता नही मुझे क्यो खामोशी और खुद को दास्ताँ समझती हो।।

Khubsurat to ho lekin mujhe akela aaur khud ko karwa samajhti ho,
Pata nahi mujhe kyu khamoshi aaur khud ko danshta samjhti ho.

तेरे इश्क़ की हिचकियाँ,अदाओ की बिजलियाँ, घायल न कर दे ।
तब से यही सोच मैं घटाघट जाम पियू की,ये पागल न कर दे।।

Tere ishq ki hichkiyan, adayo ki bijliya, ghayal na kar de,
Tab se yahi soch me ghataghat jaam piyu ki ye pagal na kar de.

चाहे झोली कितना भी फैला लो नही मिलता सौगात से ज्यादा।
दिखावे चाहे जितना भी कर लो नही मिलता औकात से ज्यादा।।

Chahe jholi kitna bhi faila lo nahi milta saugat se jayada.
Dikhave chahhe kitna bhi kar lo nahi milta aaukat se jyada

बेवफा से भी वफ़ा करता हूँ इनकार नही करता ,
प्यार करता हूँ शोहरत के लिए झूठा प्रचार नही करता ।।

Bebfa se bhi bafa karta hu inkar nahi karta,
Pyar karta hoo shoharat ke liye jhootha prachar nahi karta.

मेरा दिल संभल नही रहा अब , जरा इसे समझाओ तो जानू ।
पापा की परी हो तुम , जरा छड़ी घूमा कर जादू दिखाओ तो जानू।।

Mera dil sambhal nahi raha ab, zara isse samjho to jaanu.
Papa ki pari ho tum,zara chhari ghuma kar jaadu dikhao to jaanu.

लहरों को देखकर मैं कभी किनारा नही छोड़ता ।
दरिया भी तैर कर पार करता हूँ अधूरा नही छोड़ता।।

Lahro ko dekh kar mai kabhi kinara nahi chhorta.
Dariya bhi tair kar paar karta hu adhura nahi chhorta

इस छत से उस छत पर आमना सामना बार – बार हो रहा था।
ये कोई कारोबार नही साहब धीरे – धीरे प्यार हो रहा था।।

Ish chhat se us chhat par aamna samna baar baar ho raha tha.
Ye koi karobar nahi sahab dhire dhire pyar ho raha tha.


Latest Non Veg Jokes

Leave a Reply

Your email address will not be published.