Good Morning Shayari

Good Morning Shayari

आज सपने उनसे कुछ इस कदर मुलाकात हो गयी।
बात बढ़ती की आँखे खुली और good morning की शुरुआत हो गयी।।

Aaj sapne unse kuch ish kadar mulakat ho gayi,
Baat badhti ki ankhe khuli aaur good morning ki suruaat ho gayi.

GOOD MORNING SHAYARI

आज की सुबह में कुछ तो नई बात है
ऐसा लगता है साथ ये लाया महबूब की सौगात है।।

Aaj ki subah me kuch to nayi baat hai,
Aisa lagta hai sath ye laya mahboob ki saugat hai.

अगर मैं भूल जाऊँ चंद अल्फ़ाज़ तो याद कौन दिलाएगा।
सुबह की ताजगी मिली है मुझे , बीती रात के लिए आँसू कौन बहायेगा।।

Agar mai bhul jaau chand alfaz to yaad kaun dilayega,
Subah ki tajgi mili hai mujhe biti raat ke liye anshu kaun bahayega.

सुबह सुबह सूर्य की किरणें मुस्कान बिखेर रही है।
किरणों से निकलने वाली लालिमा तुम्हे सवार रही है।
काश ये सुबह सिर्फ मेरी हो जाती ,
मैं सोया रहता और तुम आकर जगाती।।

Subah subah surya ki kirane muskaan bikher rahi hai.
Kirno se nikalne wali lalima tumhe sawar rahi hai.
Kash ye subah sirf meri ho jaati,
Mai soya rahta aaur tum akar jagati.

रात एक बेवफा है जो नींद के नशे में डूबा कर चली जाती है।
सुबह वो साथी है जो आत्म विस्वास जगा कर साथ चलती है।।

Raat ek bewafa hai jo nind ke nashe me duba kar chali jaati hai,
Subah jo sathi hai jo aatm viswas jaga kar sath chalti hai.

रात ने सपने दिखाए , सुबह ने हौशले दिए,
कारक्ति दोपहर चाहे जैसी हो अब नही हम लौटने वाले।
अब चाहे लूट जाए या ख़ुद को लूटा दे पर मंज़िल से पहले हम कहाँ थकने वाले।।

Raat ne sapne dikhaye subah ne hausale diye.
Karati dopahar chahe jaisi ho ab nahi hum lautne wale.
Ab chahe lut jaye ya khud ko luta de par manzil se pahle hm kaha thakne wale.

प्रातः वन्दना हो हर उस सुबह की , जो ऊर्जा की नई तस्वीर लाई है।
खुद की मेहनत से जो पा सकू, ऐसी एक तकदीर लायी है।।

Paratah vandana ho hat ush subah ki jo urja ki nayi tasvir layi hai,
Khud ki mehnat se jo pa saku aisi ek takdir layi hai.

हर सुबह मेरे लिए खास हो,
दुनिया की कीमती चीज मेरे पास हो,
बस दुआ है इस सुबह से हमारी,
आप जिंदगी में न कभी उदास हो।।

Har subah mere liye khas ho,
Duniya ki kimati chiz mere pass ho,
Bas dua hai ish subah se hamari,
Aap zindgi me na kabhi udaas ho.

कल रात की सारे शिकवे गिला भूला दो।
बस इस सुबह की किरणों की तरह मुस्कुरा दो।।

Kal raat ki saare shikwe gila bhula do,
Bas ish subah ki kirno ki tarah muskura do.

असलताओ के बाद सफलताओ की होती है बरसात ,
सब्र कर बंदे, ये सुबह लायी है खुशियों की सौगात,
निराशा तो जीवन मे होती है आलसियों के लिए,
तुम्हारे लिए है ये एक नई सुबह की शुरआत।।

Asfaltao ke baad saflatao ki hoti hai barsaat,
Sabra kar bande ye subah layi hai khushiyon ki saugat,
Nirasha to jivan me hoti hai aalsio ke liye,
Tumhare liye hai ye ek nayi subah ki suruaat.

चाय की चुस्कियों के साथ होती है सुबह की शुरआत,
और ये खुशनुमा तब और हो जाता है जब मिलता है आपका साथ।।

Chai ki chuskiyo ke sath hoti hai subah ki shuruaat,
Aaur ye khushnuma tb aaur ho jata hai jb milta hai apka saath.

हर सुबह एक ऐसी हो कि दिन सुहानी हो जाये ।
काम हो पूरे दिन में ऐसा की दुनिया दीवानी हो जाये।।

Har subah ek aisi ho ki din suhani ho jaye,
Kaam ho pure din me aisa ki duniya diwani ho jaye.

आज सुबह की लालिमा जैसे मेरे मन को छुआ,
मानो जिंदगी से गायब हुआ निराशा की धुंआ,
आज सुबह-सुबह जागते ही ऐसा लगा जैसे अंतर्मन में नई ऊर्जा की लहर पैदा हुआ।।

Aaj subah ki lalima jaise mere man ko chhua,
maano zindgi se gayab hua nirasha ki dhua,
Aaj subah subah jagate hi aisa laga jaise antarman me nahi urja ki lahar paida hua.

चलो उठो अब अँधेरा छठ गया ,
परिंदा अपने घोशलो से उड़ गया,
बागों में नए फूल खिल गए,
अब तुम्हारे और हमारे दिल मिल गए।।

Chalo utho ab andhera chhath gaya,
Parinda apne ghoslo se ur gaya ,
Baago me naye phool khil gaye,
Ab tumhare aaur hamare dil mil gaya.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *